दुनिया का सबसे अच्छा Golden Thoughts Of Life in Hindi

Golden Thoughts Of Life in Hindi क्या Life में Success होना चाहते है। यकीनन आप का जवाब होगा हाँ। ओर ये सही बात भी है। कौन नही चाहता लाइफ में success होना सभी चाहते है।

में आप को कुछ ऐसी बाते बताने जा रहा हूँ। अगर आप इन बातों को समझ गये ना तो जीवन मे success आप के कदमो में होगी। तो चलिए शरू करते है।

दुनिया का सबसे अच्छा Golden Thoughts Of Life in Hindi

Golden Thoughts Of Life in Hindi

1. जीवन मे कभी हार न माने चाहे आप कितनी ही बार फैल क्यो न हो आप को गिर कर फिर से खड़ा हो जाना है। क्यो की बिना हारे कोई success नही होता। लोग चाहें आप को कितनी भी negative बाते कहे। की भाई तू नही कर पाये गा तुजसे नही होगा।

तूने ये क्या करना शरू कर दिया। इन बातों पर न ध्यान दे। सिर्फ और सिर्फ अपनी मंजिल पर focus करे। क्यो की लोगो का काम ही कहने का होता है। जब तुम success हो जावो गे तब लोग तुम को जान पाये गे।

2. जिस फील्ड में आप success होना चाहते हो। उस के पीछे हाथ धो कर पड़ जावो जब तक पढे रहो जब तक हाथ मे success न आ जाये। क्योकि काजू बादाम खाने से अकल नही आती। धके खाने से आती है।

3. अपने लक्षय से कभी भी न भागे बल्कि लक्षय के पीछे भागते रहे जबतक लक्षय ना मिल जाये। धीरे-धीरे बढ़ते रहे रुके नही। चाहे लाख दिकत आये। एक टाइम ऐसा आ जाये गा जब लोग आप को कहे गे तू पागल हो गया है। इस के पीछे तो आप समझ लेना आप मंजिल के करीब आ चुके है।

4. आप को सबसे पहले पता करना है। की मेरा Interest किस काम मे है। जब आप को पता चल जये तो उस के पीछे लग जाये और आप को success जरूर मिलें की हाला की इस मे टाइम लग सकता है पर success मिलनी तय है।

क्यो की जिस में आप का interest है उस काम को करने में आप को मजा आता है। और ये मनुष्य का नेचर है। जिस काम को खुसी ओर लगन के साथ किया जाता है। उस में success मिलनी 100% तय है।

5. कभी ना रुके बहुत सो को कुछ ऐसे काम मे interest होता है। जिस काम को उन के घर वाले कभी पसन्द नही करते। मेरी उन के लिए यही राय है आप उसी को करे जिस में आप की रुचि ही क्यो की उसी में आप बेहतर कर पावो गे ओर success भी होंगे। जब success होंगे तो घर वाले भी पसंद करें गे।

5. टाइम टेबल बनाये। टाइम टेबल हमारी success होने में एक महत्वपूर्ण रोल निभाता है। कई बार हम अपने लक्षय से विमुख हो जाते हैं। समझ नही आता तो टाइम टेबल हमारी हेल्प करे गा।

Golden Thoughts Of Life in Hindi

अब में आप को एक महा पुरुष की छोटी सी कहानी सुनाता हूँ। जिस से आप का आत्म बल बढ़ जाये गा। गौतम बुद्ध जी ने अपना घर बार छोड़ कर जंगल मे चले गये आत्मज्ञान की खोज में ओर भूखे प्यासे रह कर तपस्या करने लगे उनो ने सालो तक परिश्रम किया लेकिन आत्मज्ञान नही मिला वो निरास हो गये।

वो जंगल से जा ही रहे थे। रास्ते मे उने एक गल्हेरी दिखाई दी जिस के दो बच्चे झील में गिर गये थे। तुरंत गल्हेरी पानी मे कूद कर बाहर पानी जाड़ने लगी निरंतर इस प्रयास में लगी रही मानो गल्हेरी को ये लग रहा हो में ऐसा कर के झील को सुखा दूंगी।

ये देख कर गौतम बुद्ध के मन मे आया जब ये छोटी सी गल्हेरी हार नही मान रही तो में क्यो मान रहा हूँ। मै तो इस से बहुत ज्यादा शक्तिमान हूँ।

फिर सबसे पहले बुद्ध ने गल्हेरी के बच्चे निकालें ओर फिर से तपस्या में जुट गये ओर फिर उन को बोध व्रक्ष के निचे आत्म ज्ञान की प्राप्ति हुई।

इस से हमे सिख मिलती है। जब भी हमे जिंदगी पीछे धकेलती है। तो समझ जाना जैसे एक लंबी छलांग लगाने के लिए पीछे जुकना पड़ता है। समझ लेना उसी तरह जिंदगी भी आप को एक लंबी छलांग देने वाली है। इसीलिए कभी हार न माने ओर लक्षय की तरफ बढ़ते रहे।

अगर आप को पोस्ट से कुछ सीखने को मिले तो आप से गुजारिश है। अपने दोस्तों और सगेसम्बंदियो से शेयर जरूर करे जिस से उन को भी Positive Energy मिल सके। इस के साथ मिलते है कल ऐसी ही ओर एक नई पोस्ट के साथ। ओर अपने लक्ष्य की औऱ बढ़ते रहे धन्यवाद।

Mr. Parveen kumar

Mr. Parveen kumar

मेरा नाम प्रवीन कुमार है मेरा इस ब्लॉग को बनाने का मकसद सिर्फ इतना है की में आप लोगो के साथ information share करू जिस से आप की कुछ हेल्प हो सके thanks you.

More Posts

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Bitnami